प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अभियान की 10 बड़ी बातें 2019

आयुष्मान भारत यानी प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Ayushman Bharat- Pradhan Mantri Jan ArogyaYojana) दुनिया की सबसे बड़ी health insurance Scheme है । इस स्कीम का फायदा देश के करीब ग्यारह करोड़ परिवार यानी 50 करोड़ लोगों को मिलेगा। इस योजना के तहत आप अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त में करा सकेंगे।  इलाज कैशलेस होगा यानी आपको कोई पैसा देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आइए जानते हैं इस योजना से जुड़ी खास बातें

Download Ayushman Beneficiary List

आयुष्मान भारत योजना Beneficiaries लिस्ट आयुष्मान

[नई लिस्ट] मोबाइल से Ayushman Bharat Yojana List 2019 में 

http://mnregaweb4.nic.in/netnrega/secc_list_1718.aspx

1. ग्रामीण और शहरी गरीबों के लिए 

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) से लाभ पाने वाले 10.74 करोड़ लोगों में से करीब 8 करोड़ ग्रामीण परिवार तो करीब 2.4 करोड़ शहरी परिवार हैं।  इस योजना के पैनल में फिलहाल देश के करीब 10 हजार सरकारी और प्राइवेट अस्पताल शामिल हैं। इन अस्पतालों में गरीबों के इलाज के लिए 2.68 लाख बेड का इंतजाम किया गया है।  योजना का फायदा उन गरीब परिवार को मिलेगा जो साल 2011 के सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना के आधार पर गरीब माने गए हैं। अगर कोई परिवार साल 2011 के बाद गरीब हुआ है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।

2. उम्र की सीमा नहीं

इस योजना की खासियत यह है कि इसमें उम्र की कोई सीमा नहीं है और न परिवार में लोगों की संख्या को लेकर कोई सीमा है। यान बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सभी मुफ्त में इलाज करा सकेंगे। ध्यान रखिए 5 लाख रुपए की सीमा पूरे परिवार के लिए है। यानी अगर परिवार के किसी एक व्यक्ति के इलाज में 5 लाख रुपए खर्च हो गए हैं तो दूसरे व्यक्ति के साल पूरा होने के बाद ही फायदा मिल सकेगा।

खास बात ये भी है कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में पहले से रही बीमारियों का भी इलाज हो सकेगा। आमतौर पर हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम में पहले से मौजूद बीमारियों के लिए वेटिंग पीरियड होता है।

3. 1354 बीमारियों का इलाज
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत इलाज के लिए कुल 1350 पैकेज हैं। इन पैकेज में कैंसर के इलाज के अलावा कीमोथेरपी, रेडिएशन थेरेपी, हार्ट बाइपास, न्यूरो सर्जरी, रीढ़-दांत-आंख की सर्जरी जैसी बीमारियां शामिल हैं। यही नहीं MRI और CT Scan जिसके लिए बाजार में काफी पैसे खर्च करने होते थे अब इस योजना के जरिए आसानी से कराए जा सकेंगे।
4. भर्ती होने के पहले और बाद का खर्च भी शामिल
इस योजना में जब आप अस्पताल में भर्ती होने के 3 दिन पहले से भी जो खर्च हुआ है उसका भी पैसा मिलेगा। इसके अलावा भर्ती होने के दौरान जो इलाज होगा उसका पैसा नहीं लगेगा। अस्पताल से छुट्टी होने के बाद भी कुछ दिन का खर्च दिया जाएगा।
5. आरोग्य मित्र से मदद मिलेगी
जन आरोग्य योजना को लागू कराने में आरोग्य मित्र (आयुष्मान मित्र) की अहम भूमिका होगी। ये लोग अस्पतालों में तैनात होंगे और आपके पहुंचने पर कैशलेस इलाज दिलाने में मदद करेंगे। आरोग्य मित्र का काम यह होगा कि जो मरीज इस योजना के तहत इलाज कराने आए उसकी पहचान को वेरिफाई करे और इलाज के दौरान उसकी मदद भी करे।  नेशनल हेल्थ एजेंसी की ओर से करीब 14 हजार आरोग्य मित्रों की तैनाती की गई है।
6. किसी कार्ड की जरूरत नहीं
आयुष्मान योजना के तहत इलाज कराने के लिए आपको किसी खास कार्ड की जरूरत नहीं होगी। इसमें केवल आपको आपनी पहचान आरोग्य मित्र के जरिए सत्यापित करनी होगी। इसके लिए आप आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र या फिर राशन कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।
7. कुछ राज्यों में लागू नहीं
यह योजना अभी फिलहाल पूरे देश में लागू नहीं हुई है। कुछ राज्यों जैसे पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, केरल, तेलंगाना के अलावा ओडिशा ने केंद्र के साथ MoU पर हस्ताक्षर नहीं किया है। लेकिन ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि भविष्य में बाकी राज्य भी इस योजना की खासियत को देखते हुए इससे जुड़ेंगे।
8. राज्य भी उठाएंगे खर्च
इस योजना पर आने वाला खर्च केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर उठाएंगी। खर्च का 60 फीसदी हिस्सा केंद्र और 40 फीसदी हिस्सा राज्यों के जिम्मे होगा।
jan arogya
9. क्या आपको मिलेगा फायदा?
इस योजना के तहत इलाज कराने के लिए यह जानना जरूरी है कि कोई शख्स या उसका परिवार इस योजना के लाभार्थियों की सूची में है या नहीं। इसके लिए आपको mera.pmjay.gov.in पर जाना होगा। इस वेबसाइट पर लॉग इन करने पर आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। सुरक्षा कोड डालने के बाद जेनरेट OTP वाले ऑप्शन पर जाएं और क्लिक कर दें। इससे आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा इसके जरिए आप वेबसाइट पर ही इसकी जांच कर सकते हैं। इसके अलावा हेल्पलाइन नंबर 14555 पर कॉल करके भी इस बात की जांच की जा सकती है।
10. योजना में नाम डलवाने की सुविधा
अगर आपका नाम इस योजना के लाभार्थियों की सूची में दर्ज नहीं हैं तो अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर इस योजना के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल कर सकते हैं। इसके अलावा आयुष्मान मित्र से संपर्क करें और जरूरी दस्तावेज दे कर इस योजना में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं।
आयुष्मान भारत के संकल्प के साथ शुरू की यह योजना देश के लिए बड़ी जरूरत है। आज भी देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा न केवल स्वास्थ्य बीमा बल्कि बेहतर इलाज के लिए तरसता है। ऐसे में उम्मीद की जानी चाहिए की यह योजना गरीब तबके के लिए फायदेमंद साबित हो और हम एक स्वस्थ भारत का निर्माण कर सकें।

Leave a Comment

icon

We'd like to notify you about the latest updates

You can unsubscribe from notifications anytime