Battery Waste Management : ‘फायदे की खबर’ कंपनियां वापस खरीदेंगी ग्राहकों से पुरानी बैटरी, सरकार ने दिए यह बड़े आदेश,

Battery Waste Management 2022:- पुराने जमाने में बैटरी से चलने वाले गैजेट्स जैसे कि- रेडियो, वॉकमैन, फोन, रिमोट, घड़ी, गाड़ी की बैटरी या सेल का प्रयोग किया जाता था पर समय के साथ साथ सीमित होते चला गया | अगर आपके भी पास पुराने बैटरी रखें हुए हैं तो आपके लिए फायदे वाली खबर है | जी हां बिल्कुल दोस्तों पहले के जमाने के गैजेट्स में इस्तेमाल होने वाले बैटरी का यूज कर कर लोग उसे फेंक दे देते |

अब आगे से ऐसा नहीं होगा क्योंकि दोस्तों इस तरह की बैटरी या सेल बनाने वाली कंपनियां पुरानी हो चुकी बैटरी को वापस आपसे खरीद लेंगे | सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देशों में बताया गया है कि बैटरी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को वेस्ट मैनेजमेंट नियमों का सख्ती से पालन करने का आदेश जारी हो गया है | अगर आपके पास पहले से मौजूद या नए डिवाइस में इस्तेमाल किए गए बैटरी को अपने कि नहीं एकत्र करके रखें |

Battery Waste Management 2022
Battery Waste Management : 'फायदे की खबर' कंपनियां वापस खरीदेंगी ग्राहकों से पुरानी बैटरी, सरकार ने दिए यह बड़े आदेश, 2

Battery Waste Management मंत्रालय ने जारी की दिशा निर्देश

Battery Waste Management:- सरकार द्वारा जारी किए गए नियमों के अनुसार बैटरी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को सरकार का सभी नियम पालन करना अनिवार्य हो गया है | सरकार द्वारा बताए गए सुझाव के अनुसार बेचे गए बैटरी यों को ग्राहक से वापस एकत्र करने को कहा गया है | पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने इसके संबंधित अधिकारिक तौर पर अधिसूचना भी जारी कर चुका है | इसके लिए सरकार द्वारा प्रदान की गई सुझाव के अनुसार बेची गई बैटरी को वापस प्राप्त करने हेतु कंपनियों को बैटरी बाय बैक या डिपॉजिट रिफंड जैसे स्कीम शुरू करने चाहिए |

कच्चे माल से नए बैटरी बनाने की डेडलाइन

Battery Waste Management:- इस नए नियम से सरकार सर्कुलर इकोनामी को और अधिक बढ़ाना चाहती है | ऐसा करने के बाद से इस्तेमाल हो चुके बैटरी के कचरे को कम किया जा सके | इस नए निर्देश के बाद सरकार को यह उम्मीद है कि बैटरी बनाने वाली कंपनियों की मिनरल और माइनिंग पर निर्भरता कम होगी | ऐसा करने से बैटरी की कीमतों में कमी भी होगी |

Battery Waste Management इसके अलावा रीसाइक्लिंग के लिए कच्चे माल को यूज करने की डेट लाइन भी तय की जाएगी | इसके अलावा सरकार द्वारा इस नियम को सख्ती से पालन कराने हेतु सरकार द्वारा एक कमेटी का भी गठन किया जाएगा | ऐसा न करने वाले कंपनियों के ऊपर जुर्माना भी लगाया जाएगा |

ऐसा न करने पर कितना लगेगा जुर्माना

Battery Waste Management:- सरकार द्वारा जारी किए गए बैटरी कंपनियों के नियमों के संबंधित अवहेलना करने पर कम निर्माता कंपनियों का Extended Producer Responsibility खत्म नहीं होगा | के अलावा कंपनियों 3 साल दिल लगाया गया पर्यावरण मुआवजा निर्माता कंपनी को वापस भी किया जाएगा | इस संबंध में भी कुछ नियम और शर्तें रखे गए हैं | इन शर्तों के अंतर्गत 1 साल के अंदर 75 फ़ीसदी मुआवजा वापस कर दिया जाएगा | वही 2 वर्ष के अंदर 60% मुआवजा वापस दिया जाएगा | वहीं तीसरे वर्ष के अंदर 40% मुआवजा वापस हो जाएगा |

Reliance JIO 5G SIM – महत्वपूर्ण लिंक देखें

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Reliance JIO 5G SIM 2022Click Here
Cheapest Electric Scooter in IndiaClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here

Leave a Comment