‘BharOS’ Kya Hai? : क्या स्वदेशी ‘BharOS’ देगा ‘Android’ OS को सीधी टक्कर ! अब नहीं चलेगा Default App का खेल !

‘BharOS’ Kya Hai : देश में कुछ नया होता है तो एक आम भारतीय होने पर गर्व होता है | खास तौर पर सीजन चल रहा है गणतंत्र दिवस का तो उत्साह और देशभक्ति जाग उड़ती है |

हम बात करने वाले हैं स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ‘BharOS’ की न्यू लॉन्चिंग क्योंकि हर एक भारतीय के लिए खास, एंड्रॉयड और iOS ऑपरेटिंग एक तरफ से विदेशी प्रोडक्ट है |

'BharOS' Kya Hai
'BharOS' Kya Hai? : क्या स्वदेशी 'BharOS' देगा 'Android' OS को सीधी टक्कर ! अब नहीं चलेगा Default App का खेल ! 2

पर android को इसे सीधे टक्कर देने के लिए भारत का स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम BharOS लॉन्च होने के बाद सबकी निगाहें टिकी हुई है |

‘BharOS’ Kya Hai, आईआईटी मद्रास की ओर से बनाए गए नए भारत OS ऑपरेटिंग सिस्टम को सरकार द्वारा हरी झंडी मिल चुकी है |

लॉन्चिंग के अंतर्गत यह स्पष्ट रूप से बताया गया है कि कमर्शियल ऑफ द शेल्फ हैंडसेट के तौर पर इसे इंस्टॉल किया जा सकता है |

‘BharOS’ Kya Hai ? – (What is BharOS)

‘BharOS’ Kya Hai – जैसे आपने अभी तक केवल एंड्रॉयड और iOS ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम सुना होगा | जिसकी मदद से कंप्यूटर और आज के दौर में स्मार्टफोन में सर्वाधिक उपयोग किया जा रहा है | BharOS एक तरह से ऑपरेटिंग सिस्टम है | जिसे iit-madras डेवलपर्स ने बनाया है |

भारत का स्वदेशी BharOS लांच होने के बाद आप अपने मन में ढेर सारे सवाल उठ रहे होंगे ! आइए जानें इस देसी BharOS ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़े हुए डेवलपर्स ने क्या बताया है |

जाने क्या है BharOS, की विशेष खासियत..

  • सबसे पहले तो BharOS एक भारतीय ऑपरेटिंग सिस्टम है | जिसके इस्तेमाल से आपके डिवाइस की सिक्योरिटी और प्राइवेसी पर कंट्रोल क्षमता अधिक होगी |
  • ‘BharOS’ Kya Hai मैं आपको कोई अलग से ब्लोटवेयर या डिफॉल्ट ऐप्स सम्मिलित नहीं होंगे | जिसकी वजह से आपको स्टोरेज मैं अधिक स्पेस मिलेगी |
  • BharOS को इस्तेमाल करने वाले यूज़र को मजबूर नहीं किया जा सकता कि आप केवल उन्हीं के ऐप का इस्तेमाल करें, यह उनके ऊपर निर्भर करता है कि वह कौन सा मोबाइल एप्लीकेशन संचालन करना चाहता है |
  • BharOS एंड्रॉयड OS की तरह ही कार्यों को आसान बनाता है, यहां आप एंड्राइड की ही तरह नेटिव ओवर द एयर (NOTA) अपडेट प्राप्त कर पाएंगे |

BharOS ऑपरेटिंग सिस्टम कितना अलग है एंड्रॉयड OS से जाने

BharOS‘ भी तकनीकी रूप से एंड्रॉयड जैसा ही कार्य को करेगा, क्योंकि इन दोनों की ऑपरेटिंग सिस्टम भी Linux कर्नेल पर आधारित है |

BharOS और गूगल एंड्राइड OS के बीच अंतर यह है कि BharOS पर गूगल की सर्विस देखने को नहीं मिलेगी | यूजर को अपने अनुसार ऐप इंस्टॉल करने की अनुमति मिलती है |

क्या BharOS गूगल एंड्रॉयड से बेहतर है? – (‘BharOS’ Kya Hai)_

  • ‘BharOS’ Kya Hai – अभी फिलहाल स्पष्ट रूप से यह जानकारी निकलकर सामने नहीं आई है कि पहले से इंस्टॉल OS के अंदर BharOS रिप्लेस हो पाएगा या नहीं, फिलहाल इस बात को स्पष्ट जानकारी उपलब्ध नहीं है |
  • इसके तहत BharOS का इस्तेमाल कैसे करना है और कौन से डिवाइस में सपोर्ट करेगा वह 1 तारीख समय के साथ उपलब्ध हो पाएगा |
  • वही ‘BharOS’ Kya Hai के संबंधित सिक्योरिटी और सॉफ्टवेयर अपडेट कब तक प्राप्त होगा स्पष्ट नहीं बता रहा है |
  • इसके अलावा BharOS कब तक डाउनलोड होगा, और कहां से डाउनलोड होगा यह स्पष्ट नहीं हो पाया है |

‘भरोस’ BharOS को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मद्रास के साथ मिलकर जेएनडीके ऑपरेशंस प्राइवेट लिमिटेड (जंडकोप्स) बनाया है | ‘BharOS’ Kya Hai, यूज़र को अपने जरूरत के हिसाब से मोबाइल एप्लीकेशन इस्तेमाल करने की में पूरी आजादी मिलेगी |

‘BharOS’ Kya Hai 2023 – View Important Links

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
BharOS Kya HaiClick Here
Driving License Apply OnlineClick Here
Facebook PageClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
Telegram WebClick Here

Leave a Comment