जाने कब है कार्तिक पूर्णिमा? ! देखें गंगा स्नान, दान व पूजन का विशेष मुहूर्त और दीप प्रज्वलित का महत्व !

Kartik Purnima 2022 Date and Pujan Muhurat – इस बार का कार्तिक पूर्णिमा स्नान अपने आप में ही विशेष स्थान बना रहा है | क्योंकि इस बार कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही चंद्र ग्रहण लग रहा है | इसके अलावा कार्तिक पूर्णिमा के दिन तुलसी पूजा का विशेष महत्व माना जाता है | मान्यताओं के अनुसार ऐसा करने से आपके घर में सुख और समृद्धि तथा खुशहाली आती रहेगी | इस वर्ष कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान 8 नवंबर 2022 को है | सभी 12 महीनों में सबसे पवित्र और बेहद सुख व फलदाई मास, कार्तिक मास को माना जाता है |

Kartik Purnima 2022 Date and Pujan Muhurat
जाने कब है कार्तिक पूर्णिमा? ! देखें गंगा स्नान, दान व पूजन का विशेष मुहूर्त और दीप प्रज्वलित का महत्व ! 2

धार्मिक ग्रंथों और मान्यताओं के अनुसार Kartik Purnima के दिन पवित्र नदी में स्नान व दान करने से पूरे कार्तिक मास में पूजा अर्चना करने के बराबर फल प्राप्त होता है | इसके अलावा कार्तिक पूर्णिमा को देव दीपावली के रूप में भी मनाया जाता है |

वही कार्तिक महीना भगवान श्री हरि विष्णु को अति प्रिय है | धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विष्णु ने कार्तिक मास में ही मत्स्य अवतार लिया था | देखें कार्तिक महीने का शुभ मुहूर्त व विशेष महत्व !

Kartik Purnima 2022 शुभ मुहूर्त-

Kartik Purnima विशेष महत्व और शुभ मुहूर्त तिथि नीचे देखें |

कार्तिक तिथि 7 नवंबर 2022 को शाम 04 बजकर 15 मिनट पर शुरू हो जाएगा | जोकि अगले दिन 8 नवंबर 2022 को शाम 4:00 बजे से 31 मिनट पर समाप्ति होगी | वही कार्तिक पूर्णिमा के दिन कार्तिक स्नान का शुभ मुहूर्त शाम 4:00 बजे 31 मिनट तक दान करने का शुभ मुहूर्त है | 8 नवंबर को सूर्यास्त से पहले तक दान करने का काफी अच्छी मुहूर्त है |

देखें कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व क्यों है

क्या आप जानते हैं कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा भी कहा जाता है | वही पौराणिक धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर का संहार किया था | त्रिपुरासुर असुर का वध हो जाने के उपरांत प्रसन्न होकर देवताओं द्वारा भगवान शिव को काशी (वाराणसी) में दिए जलाए थे | इसीलिए इस दिन को देव दीपावली भी कहा जाता है |

कार्तिक पूर्णिमा में स्नान दान करने का महत्व

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र नदी में स्नान करने के उपरांत व्यक्ति को पाप से मुक्ति मिल जाती है | मान्यताओं के अनुसार इस दिन देवता गण भी गंगा स्नान के लिए धरती पर आते हैं | इसलिए आपको पवित्र नदी में गंगा स्नान जरूर करना चाहिए |

अगर आप गंगा स्नान करने का समर्थ है तो अपने घर में ही गंगाजल मिलाकर गंगा स्नान कर सकते हैं | गंगा स्नान करने के उपरांत आप Kartik Purnima 2022 के दिन प्रदोष काल में नदी में या तालाब में दीपदान भी कर सकते हैं जिस का विशेष महत्व होता है |

Kartik Purnima 2022 – महत्वपूर्ण लिंक देखें

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Kartik Purnima 2022Click Here
Diwali Kab Hai 2022 Date 2022Click Here
Facebook PageClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here

(Disclaimer: यहां बताई गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. gadgetsupdateshindi.com इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

1 thought on “जाने कब है कार्तिक पूर्णिमा? ! देखें गंगा स्नान, दान व पूजन का विशेष मुहूर्त और दीप प्रज्वलित का महत्व !”

Leave a Comment