Makar sankranti 2022 Date : जानिए खिचड़ी कब है, शुभ मुहूर्त, तिथि और महत्व

|| makar sankranti 2022, मकर संक्रांति पर 10 लाइन, मकर संक्रांति कब है, makar sankranti 2021, 2022 में होली कब है, संक्रांति, मकरसंक्रांत 2022 मराठी, खिचड़ी कब है, खिचड़ी कब है 2022, ||

Makar sankranti 2022 Date ‘मकर संक्रांति’ हिंदूओ के प्रमुख त्योहारों में से एक है। इस पर्व के साथ ही सारे शुभ और मंगल काम शुरू हो जाते हैं, क्योंकि इस दिन से खरमास भी समाप्त होता है। आपको बता दें कि पौष मास में जब सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करते हैं, उस काल विशेष को ही Makar sankranti 2022 (खिचड़ी) कहते हैं।

मकर संक्रांति के दिन परिवार के सभी सदस्य नदी में स्नान या घर में ही गंगाजल पानी में डालकर स्नान करते हैं| तथा दानपात्र करने की विधि शुरू होती है जिसमें लोग (सीधा ) भी बोलते हैं जो कि ब्राह्मणों को दी जाती है या किसी भी मांगने वाले को दान के रुप में खाद्य रूप में वस्तुएं दान की जाती है| इसके अलावा भोजन में खिचड़ी बनाई जाती है, खिचड़ी में उड़द के दाल का प्रयोग किया जाता है, तथा मूंग के दाल का भी प्रयोग होता है| वही तिल की लाई तथा चावल की लाई भी बनाई जाती है|

Makar sankranti 2022 Date : जानिए खिचड़ी कब है, शुभ मुहूर्त, तिथि और महत्व
Makar sankranti 2022 Date : जानिए खिचड़ी कब है, शुभ मुहूर्त, तिथि और महत्व 4

कहीं-कहीं Makar sankranti इस दिन को ‘खिचड़ी’ के नाम से जाना जाता है। इस पावन दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान करते हैं और दान-पुण्य करते हैं। काले तिल का लाई या चावल का लाई बनाई जाती है और बच्चे, बड़े भी खाते हैं, इस दिन काले तिल को विशेष रूप से दान किया जाता है।

मकर संक्राति 2022 का शुभ मुहूर्त मकर संक्राति पुण्य काल दोपहर 02:43 से शाम 05:45 तक पुण्य काल की अवधि 03 घंटे 02 मिनट मकर संक्राति महा पुण्य काल दोपहर 02:43 से रात्रि 04:28 तक महा पुण्य काल की अवधि 01 घंटा 45 मिनट है।

makar sankranti 2022 Date : जानिए खिचड़ी कब है, शुभ मुहूर्त, तिथि और महत्व

Makar Sankranti festival 2022

?️ Name of the festival-?️मकर संक्रांति 2022
?️ मकर संक्रांति किस तारीख को है-?️१४ जनवरी
?️ मकर संक्रांति किस दिन को है-?️शुक्रवार
?️मकर संक्राति महा पुण्य काल-?️दोपहर 02:43 से रात्रि 04:28 तक
?️ प्रसाद के रूप में क्या मिलता है-?️ ‘खिचड़ी’ – काले तिल का लाई या चावल का लाई

Makar Sankranti date 2022 festival ?️- का शुभ मुहूर्त

  • ☸️ मकर संक्रांति : 14 जनवरी 2022
  • ☸️ Sankranti पुण्य काल– 14 जनवरी को दोपहर 02.43 से शाम 05.45 तक
  • ☸️ पुण्य काल की कुल अवधि- 03 घंटे 02 मिनट
  • ☸️ संक्रांति के दिन महा पुण्यकाल- 14 जनवरी को दोपहर 02.43 से 04:28 तक
  • ☸️ Makar Sankranti कुल अवधि – 01 घंटा 45 मिनट

मकर संक्रांति का महत्व – (Significance of Makar Sankranti)

इस दिन को कहीं-कहीं ‘उत्तरायण’ कहा जाता है। तो वहीं यूपी में इस दिन माघ मेले का आयोजन होता है। लोग Makar sankranti 2022 ? के दिन संगम नगरी या काशी में भारी संख्या में स्नान करते हैं तो वहीं बिहार में मकर संक्रान्ति को खिचड़ी नाम से जाना जाता है। इस दिन उड़द, चावल, तिल, चिवड़ा, गौ, स्वर्ण, ऊनी वस्त्र दान करने का रिवाज है। इस दिन लोग घरों में खिचड़ी बनाकर भी खाते हैं और घरों में तिल और गुड़ के पकवान भी बनते हैं।

? Note – कई राज्यों में मकर संक्रांति के दिन लोग पतंग बाजी भी करते हैं, जिसमें एक दूसरे का पतंग काट कर आनंदित होते हैं, तो मकर संक्रांति के दिन पतंग भी उड़ा जाते हैं|

ऐतिहासिक महत्व की बात करें तो ऐसा कहा जाता है कि इस दिन ? भगवान भास्कर यानी कि सूर्य देव अपने पुत्र शनि से मिलने जाते हैं और चूंकि शनिदेव मकर राशि के स्वामी हैं इसलिए इस दिन को Makar Sankranti के नाम से जाना जाता है।

Makar sankranti 2022 Date : जानिए खिचड़ी कब है, शुभ मुहूर्त, तिथि और महत्व

Makar sankranti 2022 को इन नामों से भी जानते है लोग?

मकर संक्रांति को भारत में अलग जगह निम्नलिखित इन नामों से भी जानते है |

छत्तीसगढ़, गोआ, ओड़ीसा, हरियाणा, बिहार, झारखण्ड, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, राजस्थान, सिक्किम, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, पश्चिम बंगाल, गुजरात और जम्मू, इन सभी राज्यों में मकर संक्रांति को मकर सक्रांति के नाम से ही प्रसिद्ध है|

  • उत्तर प्रदेश और पश्चिमी बिहार -> खिचड़ी
  • तमिलनाडु–> ताइ पोंगल, उझवर तिरुनल
  • पश्चिम बंगाल –> पौष संक्रान्ति
  • गुजरात, उत्तराखण्ड –> उत्तरायण
  • असम —> भोगाली बिहु
  • जम्मू –> माघी संगरांद
  • कश्मीर घाटी –> शिशुर सेंक्रात
  • हिमाचल प्रदेश, पंजाब –> माघी

?️ सूर्यदेव की पूजा इन मंत्रों से कीजिए

{{?️ माघे मासे महादेव: यो दास्यति घृतकम्बलम। स भुक्त्वा सकलान भोगान अन्ते मोक्षं प्राप्यति॥ ?️ }}

Makar Sankranti date को कुछ लोग ये भी कहते हैं

इस दिन “भीष्म पितामह” ने अपना देह त्याग किया था इसलिए यह दिन पावन कहा जाता है, तो वहीं गंगा नदी सागर में जाकर मिली थीं इसलिए Makar Sankranti के इस दिन गंगा स्नान का महत्व है। वैसे मौसम की बात करें तो इस दिन भयंकर सर्दी का खात्मा होता है इसलिए भी यह दिन बहुत ज्यादा पावन है।

What is the significance of Makar Sankranti?

According to Hindu religion, on the day of ?️ Makar Sankranti 2022, Lord Sun God visits Shani Dev and meets him, along with it Sunny is considered to be the lord of Kumbh and Makar Ankhis and according to some old stories, on this day in the worship of Sun God. Therefore, special worship is offered to the Sun God and this day is dedicated to Lord Surya, Makar Sankranti is known by different names in each state.

( ?Disclaimer ?)

?(Makar Sankranti) यह जानकारी समाचार पत्रों और और सामान्य मान्यताओं से ली गई है यह वेबसाइट किसी भी ऐसे तत्वों की पुष्टि नहीं करते हैं, ? अगर यहां पर अमल लाने से पहले इसकी एक बार अपने अनुसार पूर्णता जांच कर लें ! यहां पर भी किसी भी समस्या के लिए हम उत्तरदाई नहीं होंगे|

Also Read-

FAQ. Makar sankranti 2022 Date

⁉️ What should not be done on Makar Sankranti?

? Garlic, onion or meat, alcohol should not be consumed on this day. Apart from this, no one should say abusive words on this day. Women should avoid washing hair on the day of Makar Sankranti. Also, teeth should not be cleaned during Punyakal.

⁉️ Why is Makar Sankranti celebrated?

? According to astrology, when the Sun enters Capricorn from Sagittarius, then Makar Sankranti is celebrated.
According to astronomy, the festival of Makar Sankranti is celebrated when the Sun moves from Dakshinayana to Uttarayan, or when the northern hemisphere of the Earth turns towards the Sun.

⁉️ What should be done on the day of Makar Sankranti?

? Sun worship: On this day the sun turns north.
Bathing in the river: It is believed that on this day Surya left his son Shani Dev’s displeasure and went to his house, so taking a bath in the holy river on this day becomes a thousand fold.
Donation: Til, jaggery or Revdi is donated on this day.

⁉️ What to make on Makar Sankranti?

? About the dishes prepared in different parts of the country on Makar Sankranti.
1. Til ke Laddu or Tilwa In some states including Bihar and Jharkhand, Sesame Laddu or Tilwa is made on Makar Sankranti.
2. A dish in South Asian cuisine made of rice and lentils
3. curd chuda
4. Ramdana’s Laddu
5. Ghughuti
6. Puran Poli
7. Gheevar
8. Gajak

⁉️ In which state Makar Sankranti is celebrated?

Uttar Pradesh-? This festival is celebrated in the form of Khichdi, so there is a trend of eating and feeding Khichdi on this day.
donation of khichdi and sesame is also given. Bihar- In Bihar, Makar Sankranti is known as Khichdi and Makar Sankranti.

Leave a Comment