Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana 2019 | गर्भवती महिलाओं को 6000 | | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

भारत सरकार देश की गर्भवती महिलाओं को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान करती है | इस आर्थिक सहायता को Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana या प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत  गर्भवती  महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए शुरू की गई है | इस योजना के अंतर्गत ₹6000 की वित्तीय सहायता प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार देश में नवजात शिशु और गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर में कमी लाना है | ताकि नवजात शिशुओं की अच्छे से परवरिश की जा सके | जिससे हमारा देश स्वस्थ और कुशल हो सके। भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही यह एक अच्छी पहल है , जिसके माध्यम से एक उज्जवल भारत निर्माण की कोशिश की जा रही है

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana क्या है –

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बच्चे हमारे देश का भविष्य होते हैं | इन्हीं के माध्यम से हमारा देश आगे बढ़ेगा | भारत सरकार भी बच्चों को लेकर काफी गंभीर है | इसलिए भारत सरकार कई ऐसी योजनाओं का संचालन कर रही है | जिससे देश के बच्चों का विकास किया जा सके | इन्हीं योजनाओं में एक Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana योजना भी है | जिसके अंतर्गत गर्भावस्था में गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा ₹6000 की धनराशि प्रदान की जाती है | ताकि इस धनराशी  से गर्भवती महिला और बच्चे का अच्छी तरीके से परवरिश की जा सके |

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना का लाभ आप कैसे प्राप्त कर सकते हैं ? और इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको कौन कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होगी | इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए या पोस्ट लास्ट तक पढ़े  |

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana पात्रता मापदंड –

भारत सरकार द्वारा ₹6000 गर्भवती महिलाओं को प्रदान की जाने वाली सहायता योजना अर्थात् भारत प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा –

  • गर्भवती महिलाओं को आंगनवाड़ी केंद्र में पंजीकृत होना आवश्यक है |
  • 1 जनवरी 2017 या उसके बाद गर्भवती हुई महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस योजना के लिए पात्र माना जाएगा |
  • माता और बाल संरक्षण एमसीपी कार्ड का रिकॉर्ड
  • जो महिलाएं केंद्र या राज्य सरकार में महिला कर्मचारी पीएसयू योजनाओं का लाभ प्राप्त कर रहे हैं | वह इस योजना के लिए पात्र नहीं होंगे |

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लाभ –

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित है –

  • नवजात शिशुओं की अच्छे से परवरिश करना |
  • मृत्यु दर में कमी लाना  |
  • इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली धनराशि सीधे गर्भवती महिलाओं के खाते में जाएगी |

पीएमएमवीवाई के उद्देश्य –

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही मातृत्व वंदना योजना में आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी –

  • राशन कार्ड
  • बैंक पासबुक कॉपी
  • पहचान प्रमाण पत्र
  • डिलीवरी के समय हॉस्पिटल से जारी दस्तावेज  |

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana के लिए आवेदन कैसे करें –

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana में आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करना होगा | जिसके माध्यम से ऑफिस योजना के लिए आवेदन कर सकेंगे –

  • मातृत्व वंदना योजना में पंजीकरण कराने और ₹6000 की आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए आप अपने निकटतम आंगनवाड़ी केंद्र यह स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों से संपर्क कर सकते हैं | मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण के लिए आवेदन पत्र आंगनवाड़ी केंद्रों यात्रा सुविधा केंद्रों से निशुल्क मिलेगा |
  • इसके अतिरिक्त आप मातृत्व वंदना योजना एवं महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट से भी फार्म डाउनलोड कर सकते हैं |
  • फार्म प्राप्त होने के पश्चात आपको पूरी तरह से फार्म भर कर उसे आंगनवाड़ी केंद्र या स्वास्थ्य सुविधा केंद्र पर जमा करना होगा |
  • आवेदन फार्म स्वीकृत होने के पश्चात आपके दिए हुए बैंक खाते में ₹6000 की धनराशि प्रदान की जाएगी |
  • आवेदन की पूरी प्रक्रिया एंव दिशानिर्देश पढने के लिए यहाँ क्लीक करें |

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना भुगतान क़िस्त –

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत प्रदान किए जा रहे हैं ₹6000 गर्भावस्था के दौरान तीन किश्तों में प्रदान किए जाते हैं | हर क़िस्त प्राप्त करने के लिए आपको तीन अलग-अलग आवेदन पत्र जमा करने होते हैं | यह आवेदन पत्र निम्नलिखित है –

  • फॉर्म 1-A – फार्म प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने और पहली क़िस्त प्राप्त करने के लिए
  • Form 1-B – इस योजना के अंतर्गत दूसरी किस्त प्राप्त करने के लिए फार्म
  • Form 1-C – इस योजना के अंतर्गत तीसरी किस्त प्राप्त करने के लिए

शिशु मृत्यु का मामला –

  • लाभार्थी योजना के अंतर्गत केवल एक बार लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं। अर्थात शिशु की मृत्यु हो जाने की स्थिति
    में वह योजना के अंतर्गत लाभों का दावा करने की पात्र नहीं होगी, यदि उसने पीएमएमवीवाई के अंतर्गत पहले ही
    मातृत्व लाभ की सभी किस्तें प्राप्त कर ली है |
  • गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली आंगनवाड़ी कार्यकत्र्री/आंगवाड़ी सहायिका/आशा भी योजना की शर्तों की पूर्ति
    के अधीन प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकती हैं |

तो दोस्तों यहां थी भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana के बारे में आवश्यक जानकारी | यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे | साथ ही यदि आपका किसी प्रकार का सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें |

Leave a Comment