UP Rural Self Help Group 2022: लाखो महिलाओं को स्वरोजगार के साथ जोड़ने की तैयारी, सरकार भेजेगी 1500 करोड़ रुपए खाते में?

UP Rural Self Help Group 2022:- आज के इस लेख के माध्यम से ऐसी सभी ग्रामीण इलाकों में रहने वाली बेरोजगार महिलाएं जो लगातार रोजगार की तलाश में लगी रहती हैं | उन्हें अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की तरफ से स्वरोजगार के अंतर्गत जोड़ा जाएगा | पूरे प्रदेश में लगभग 33 लाख से अधिक महिलाओं को सरकार द्वारा जारी बजट के अंतर्गत लाभ प्राप्त किया जाएगा | मिल रहे सूत्रों के हवाले से खबर के अनुसार UP Rural Self Help Group 2022, ग्रामीण क्षेत्रों की 33 लाख महिलाओं को रोजगार के साथ जोड़ने की तैयारी चल रही है |

वही 3.30 लाख स्वयं सहायता समूह के खाते में ₹1500 करोड़ भेजने की तैयारी चल रही है, ग्रामीण इलाकों में सक्रिय स्वयं सहायता समूह आजीविका की गतिविधियों के साथ जोड़ने के लिए 1300 उत्पादक समूह का भी गठन करने की योजना बनाई जा रही है | जिससे कि उन सभी बेरोजगार महिलाओं को रोजगार के साथ जोड़ा जा सके | इस लेख के माध्यम से UP Rural Self Help Group 2022 के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी नीचे देखें |

UP Rural Self Help Group 2022:- सरकारी सूत्रों का कहना है कि ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 2022-23 की अवधि के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है , जिसमें इस साल 3.30 एसएचजी को रिवॉल्विंग फंड और सोशल इनवेस्टमेंट फंड (सीआईएफ) के तहत 1500 करोड़ रुपये दिए जाने हैं । वही स्वयं सहायता ग्रुप के खातों में प्राप्त धनराशि से समूह के साथ जुड़ी ग्रामीण दीदियों को रोजगार के साथ जो आज आएगा |

एक स्वयं सहायता समूह में 10 से 14 तक महिलाओं का ग्रुप होता है | इसलिए सरकार द्वारा जारी इस बड़े बजट में सीधे तौर पर 33 लाख से अधिक समूह की महिलाओं को फायदा होने वाला है | UP Rural Self Help Group 2022, वही 2.20 लाख समूह को रिवाल्विंग फंड और 1.19 लाख समूह को समुदायिक निवेश फंड देने का भी टारगेट रखा गया है |

UP Rural Self Help Group 2022, preparing to connect 33 lakh women with self-employment
UP Rural Self Help Group 2022: लाखो महिलाओं को स्वरोजगार के साथ जोड़ने की तैयारी, सरकार भेजेगी 1500 करोड़ रुपए खाते में? 3

UP Rural Self Help Group 2022 – Overview

विभाग का नामRevolving Fund and Social Investment Fund (CIF) to SHGs
आर्टिकल पोस्ट का नामUP Rural Self Help Group 2022: 33 लाख महिलाओं को स्वरोजगार के साथ जोड़ने की तैयारी, सरकार भेजेगी 1500 करोड़ रुपए खाते में?
राज्य का नामउत्तर प्रदेश
योजना का उद्देश्य33 लाख महिलाओं को स्वरोजगार के साथ जोड़ना ही योगी सरकार का मुख्य उद्देश्य है
सत्र2022
कुल महिलाएं33 लाख महिलाओं को
संभावित आवंटन राशि1500 करोड़ रुपये
समूह का नामस्वयं सहायता समूह -SHG
आधिकारिक वेबसाइटकमिंग सून

UP Rural Self Help Group के अंतर्गत 2.86 लाख नए समूह का गठन भी होगा

UP Rural Self Help Group 2022:- उत्तर प्रदेश सरकार राज्य में पहले से मौजूद स्वयं सहायता समूह के अलावा इस साल लाख नए समूह का गठन भी करने के बारे में सोच रही है उत्तर प्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के निदेशक भानु चंद्र गोस्वामी ने इसके संबंधी जानकारी शुक्रवार को दी ! जिसमें बताया वित्तीय वर्ष में लाख नए स्वयं सहायता समूह का गठन करने हेतु लक्ष्य बना रही है |

वही UP Rural Self Help Group 2022 के साथ 2.1 लाख से अधिक महिलाएं जुड़ेंगे जिन महिलाओं को स्वरोजगार के साथ बड़े स्तर पर जो आज आएगा वही इस कार्य को और अधिक बनाने हेतु संबंधित विस्तृत कार्य योजना के संबंधित पूरी बजट भारत सरकार को भी प्रस्ताव के रूप में भेजा जाएगा |

600 ग्रामीण संगठनों को दिए जाएंगे कृषि उपकरण

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक स्वयं सहायता आजीविका मिशन के अंतर्गत इस वर्ष 600 ग्राम संगठनों को कृषि क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए कृषि से जुड़े हुए उपकरण भी देने का लक्ष्य तय किया गया है साथ ही बैंकिंग सखी का काम कर रही UP Rural Self Help Group 2022 की दीदियों द्वारा 24000 करो रुपए वित्तीय लेनदेन किया जाएगा |

स्वयं सहायता समूह क्या है?

जैसे आपको नाम से ही पता चल जा रहा है, स्वयं सहायता समूह महिलाओं द्वारा बनाए जाने वाले आपसी समूह को ही स्वयं सहायता समूह कहते हैं | समूह में कुल 10 से 14 ग्रामीण महिलाएं शामिल होकर अपनी आमदनी से कुछ हिस्से की बचत करती हैं, और समूह के बचत किए गए सम्मिलित फंड को इकट्ठा करती हैं | तथा इकट्ठा किए गए पैसे को समूह के किसी एक महिला की आवश्यकता या जरूरत पड़ने पर समूह के नियम अनुसार तय ब्याज अवधि पर उन्हें सहायता देने के कार्य करती हैं |

UP Rural Self Help Group

स्वयं सहायता समूह का पंजीकरण भी कराया जाता है | जो कि पूरे भारत में आप कहीं पर भी स्वयं सहायता समूह संचालन कर सकते हैं | तथा इसका पंजीकरण करने हेतु nrlm.gov.in पंजीकृत करा सकते हैं, तथा सभी सदस्यों के साथ मिलकर एक बैंक खाता भी खोला जाता है | UP Rural Self Help Group 2022

सत्र 2021-22 मैं 1.43 लाख संगठनों का गठन हुआ है उत्तर प्रदेश राज्य में-

इसी वर्ष 31 मार्च को समाप्त वित्तीय वर्ष 2021 2022 में 1 लाख 43470 SHG यानी स्वयं सहायता समूह का उत्तर प्रदेश राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में नया गठन हुआ है वहीं इस साल के अंत तक 208000 नए स्वयं सहायता समूह का गठन करने के संबंधित सरकार लक्ष्य बना रही है |

UP Rural Self Help Group 2022 – महत्वपूर्ण लिंक

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
UP Rural Self Help Group 2022Click Here
Free Silai Machine Yojana 2022 Official Home PageClick Here
Instagram Joining LinkClick Here

FAQ :- UP Rural Self Help Group 2022

स्वयं सहायता समूह क्या है?

ग्रामीण इलाकों में महिलाओं द्वारा बनाए गए इस समूह में 10 से 15 महिलाओं के समूह को UP Rural Self Help Group कहा जाता है इसका पंजीकरण सरकारी दफ्तर में कराया जाता है |

उत्तर प्रदेश में स्वयं सहायता समूह का नया गठन बनाने का कितना लक्ष्य है?

इस साल उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लगभग 1.19 लाख महिलाओं को स्वयं सहायता समूह के साथ जोड़कर स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने की योजना बना रही है |

नया स्वयं सहायता ग्रुप पंजीकरण कैसे होता है?

नए तौर पर स्वयं सहायता ग्रुप का पंजीकरण कराने के लिए महिलाओं को nrlm.gov.in की अधिक पंजीकरण करना होता है |

स्वयं सहायता समूह में समूह की संख्या कितनी हो सकती है?

एक स्वयं सहायता समूह बनाने हेतु महिलाओं की संख्या 10 से 20 तक हो सकती है |

स्वयं सहायता ग्रुप को फंड कौन देता है?

स्वयं सहायता समूह को केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार तरह-तरह की अंतर्गत फंड मुहैया कराती है | जिससे महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान हो सके |

Leave a Comment