हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 17 सितंबर को ही मनाया जाएगा, “विश्वकर्मा पूजा”, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि !

Vishwakarma Puja 2022 – हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी कन्या संक्रांति के दिन विश्वकर्मा पूजा मनाई जाएगी | वैसे तो विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर 2022 को मनाया जाएगा | सभी त्योहारों को देखा जाए तो विश्वकर्मा पूजा के हर वर्ष 17 सितंबर को ही अस्थाई रूप से मनाया जाता है | कन्या संक्रांति तब होती है जब सूर्य कन्या राशि में प्रवेश कर लेता है |

इसी आधार पर हर वर्ष 17 सितंबर को Vishwakarma Puja बड़े ही धूमधाम से पूरे देश भर में मनाई जाती है | वही आपको बता दें कि विश्व का सबसे पहला इंजीनियर विश्वकर्मा भगवान को ही माना जाता है | विश्वकर्मा पूजा के दिन यंत्रों और औजारों अथवा देवताओं के शिल्पी भगवान विश्वकर्मा की बड़ी श्रद्धा के साथ पूजा की जाती है |

Vishwakarma Puja 2022
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 17 सितंबर को ही मनाया जाएगा, "विश्वकर्मा पूजा", जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि ! 2

Vishwakarma Puja 2022

Vishwakarma Puja 2022:- भारतीय धार्मिक ग्रंथों के मुताबिक देव शिल्पी भगवान विश्वकर्मा ने ही सृष्टि की रचना के समय भगवान ब्रह्मा की मदद की थी | देव शिल्पी भगवान विश्वकर्मा ने ही संसार की मानचित्र तैयार किया था | इसके अलावा यह वास्तुकला के और द्वितीय गुरु में से एक हैं | वह आज के ही दिन वास्तु दिवस के रूप में भी मनाया जाता है |

भाई अगर भगवान विश्वकर्मा की कृपा किसी व्यक्ति के ऊपर हो जाती है तो वह बिजनेस में तरक्की और उन्नति की तरफ अग्रसर हो जाता है | इस लेख में Vishwakarma Puja की शुभ मुहूर्त तथा पूजा विधि की जानकारी नीचे उपलब्ध है देखें |

जाने विश्वकर्मा पूजा शुभ मुहूर्त कब है? -( Vishwakarma Puja 2022 Shubh Muhurat)

  • विश्वकर्मा पूजा का शुभ मुहूर्त– 17 सितंबर को सुबह 07 बजकर 39 मिनट से सुबह 09 बजकर 11 मिनट तक
  • तीसरा शुभ समय– दोपहर 03 बजकर 20 मिनट से शाम 04 बजकर 52 मिनट तक पर

इस वर्ष Vishwakarma Puja पर बन रहे हैं विशेष योग

मिल रही जानकारियों के अनुसार इस वर्ष Vishwakarma Puja के दिन एक से बढ़कर एक शुभ योग बन रहे हैं | जिसका असर हर व्यक्ति के जीवन पर पड़ने वाला है | इस बार विश्वकर्मा पूजा के दिन एक दो नहीं बल्कि पूरे 4 शुभ योग बन रहे हैं |

  • सर्वार्थ सिद्धि योग– सुबह 06:07 मिनट से दोपहर 12 बजकर 21 मिनट तक रहेगा
  • द्विपुष्कर योग – दोपहर 12:21 मिनट से दोपहर 02 बजकर 14 मिनट तक रहेगा
  • रवि योग- सुबह 6:07 मिनट से दोपहर 12 बजकर 21 मिनट तक रहेगा
  • अमृत सिद्धि योग– सुबह 6:06 मिनट से दोपहर 12 बजकर 21 मिनट तक रहेगा

जय विश्वकर्मा पूजन 2022 विधि – (Vishwakarma Puja Pujan vidhi)

  • आप चाहे तो Vishwakarma Puja के 1 दिन पहले ही अपने दुकान कारखाना ऑफिस की साफ सफाई कर ले |
  • विश्वकर्मा पूजा के दिन सुबह सभी आवश्यक कार्य करने के उपरांत स्नान कर ले |
  • तत्पश्चात विश्वकर्मा पूजा का संकल्प करें |
  • विश्वकर्मा पूजा करने हेतु स्थान का सही चयन करें और एक चौकी में साफ वस्त्र बिछाकर विश्कर्मा जी की मूर्ति या तस्वीर की स्थापना करें |
  • साथ ही साथ एक कलश की भी स्थापना करें और कलश में जल भरकर उसमें आम के पत्ते रख दें उसके बाद नारियल में का कलावा लपेटकर ऊपर रख दें |
  • अब आप विश्वकर्मा जी को दही अच्छा फूल धूप अगरबत्ती चंदन रोली फल रक्षा सूत्र सुपारी मिठाई वस्त्र आदि अर्पित करें |
  • तत्पश्चात औजारो, यंत्रों वाहन अस्त्र-शस्त्र की भी मैं पूजा करें |
  • पूजा करने के दौरान इन मंत्रों का उच्चारण अवश्य करें |

!! ऊँ आधार शक्तपे नम: !!

!! ऊँ कूमयि नम: !!

!! ऊँ अनन्तम नम: !!

!! ऊँ पृथिव्यै नम:। !!

  • मंत्रों का उच्चारण करने के दौरान कपूर या घी के दीपक के साथ मंत्र का उच्चारण करें |
  • यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद हवन प्रक्रिया पूर्ण करें |
  • अंततः भगवान विश्वकर्मा से भूल चूक के लिए माफी मांगते हुए बिजनेस में तरक्की और उन्नति के लिए आशीर्वाद की कामना करें |
  • तत्पश्चात प्रसाद का वितरण अवश्य करें |

Vishwakarma Puja 2022 – महत्वपूर्ण लिंक

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Vishwakarma Puja 2022Click Here
Aaj Ka Panchang 2022 VratClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
telegram webClick Here
Google NewsClick Here

(Disclaimer: यहां बताई गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. gadgetsupdateshindi.com इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Leave a Comment